एनबीएफसी को ऋण प्रवाह बढ़ाना स्वागत योग्य कदम : डॉ. अजय कुमार, जेनरल नेशनल सेक्रेटरी, आईसीसीआई।

By: Dilip Kumar
10/20/2018 8:34:12 PM
नई दिल्ली

इंटीग्रेटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के जेनरल नेशनल सेक्रेटरी डॉ. अजय कुमार ने आरबीआई द्वारा गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों और आवास ऋण कंपनियों के लिए नकद प्रवाह का स्वागत करते हुए कहा कि निश्चततौर पर इससे एनबीएफसी यानी गैर बैंकिग वित्तीय कंपनियां में नकदी संकट का हल निकलेगा। खासकर नकदी संकट से जुझ रहा रीयल एस्टेट को ऋण का प्रवाह बढ़ेगा जिससे अर्थव्यवस्था में गति आएगी।

अजय कुमार ने कहा कि आरबीआई ने जो कदम उठाए हैं इससे लघु अवधि का उपभोक्ता ऋण उपलब्ध कराने वाले और सूक्ष्म वित्त इकाइयों को लाभ होगा। आरबीआई के इस कदम से खास तौर पर बैंकों के पास पचास हजार से साठ हजार करोड़ रुपए की नकदी एनबीएफसी को कर्ज के रूप में देने के लिए उपलब्ध हो सकेगी। अजय कुमार ने कहा कि आरबीआई के इस कदम से बैकों के पास कर्ज देने योग्य धन बढ़ सकता है और वे अधिक कर्ज सहायता देने की स्थिति में होंगे।

गौरतलब है कि आरबीआई ने एनबीएफसी और एचएफसी यानी आवास ऋण कंपनियां नकद कर्ज का प्रवाह बढ़ाने को लेकर उपायों की घोषणा की है। सरकार के इस कदम से एनबीएफसी और एचएफसी को जितना अधिक कर्ज दे सकेंगे उन्हें उसी के बराबर अपने पास की सरकारी प्रतिभूतियों को रिजर्व बैंक के पासरखकर उसके आधार पर कर्ज लेने के लिए इस्तेमाल की छूट होगी।


comments