46 वर्ष के हुए पूर्व भारतीय बल्लेबाज राहुल द्रविड़

By: Dilip Kumar
1/11/2019 3:00:41 AM
नई दिल्ली

टेस्ट क्रिकेट में 13000 से ज्यादा रन और वनडे क्रिकेट में 10000 से ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज राहुल द्रविड़ 46 वर्ष के हो गए। टीम इंडिया की दीवार या फिर मिस्टर भरोसेमंद के नाम से मशहूर विराट इन दिनों भारतीय अंडर 19 क्रिकेट टीम व इंडिया ए टीम को मुख्य कोच हैं। इसके अलावा वो भारतीय टीम के ओवरसीज बैटिंग कंसल्टेंट भी हैं।

11 जनवरी 1973 के इंदौर (मध्यप्रदेश) के एक मराठी परिवार में उनका जन्म हुआ था और इसके बाद वो बेंगलुरू आ गए। उन्होंने 12 वर्ष की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया और अंडर 15, अंडर 17 और अंडर 19 लेवल पर कर्नाटक टीम का प्रतिनिधित्व किया। वर्ष 2004 में आइसीसी के पहले अवॉर्ड सेरेमनी में राहुल द्रविड़ प्लेयर ऑफ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर चुने गए। वहीं दिसंबर 2011 में वो पहले ऐसे गैर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर बने जिन्होंने कैनबरा में ब्रेडमैन ओरेशन दिया।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में करीब 25000 रन बनाने वाले राहुल द्रविड़ ने वर्ष 2004 में चितगोंग में बांग्लादेश के खिलाफ शतक लगाते ही वो पहले ऐसे खिलाड़ी बने थे जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले सभी दसों देशों के खिलाफ शतक लगाया। अक्टूबर 2012 तक टेस्ट क्रिकेट में वो सबसे ज्यादा 210 लेने वाले खिलाड़ी बने रहे। टेस्ट क्रिकेट में 286 पारियां खेलने वाले द्रविड़ एक बार भी गोल्डन डक का शिकार नहीं हुए और ये कमाल का रिकॉर्ड उनके नाम पर है। अपने टेस्ट करियर में उन्होंने 31258 गेंदों का सामना किया और क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप में वो सबसे ज्यादा गेंदें खेलने वाले खिलाड़ी हैं। टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने क्रीज पर 44152 मिनट बिताए और इस प्रारूप में क्रीज पर सबसे ज्यादा वक्त बिताने वाले खिलाड़ी हैं।

अगस्त 2011 में उन्हें आश्चर्यजनक तौर पर इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय वनडे टीम में चुना गया और इसके बाद उन्होंने वनडे व टी 20 क्रिकेट को अलविदा कह दिया। इसके बाद मार्च 2012 में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट व फर्स्ट क्लास क्रिकेट से भी रिटायरमेंट ले ली। हालांकि 2012 में वो आइपीएल में खेले थे और राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी भी की थी। द्रविड़ को पद्मश्री और पद्मभूषण सम्मान से भी नवाजा गया। राहुल द्रविड़ ऐसे पांचवें भारतीय खिलाड़ी बने थे जो आइसीसी हॉल ऑफ फेम में शामिल किए गए थे।

द्रविड़ ने अपने क्रिकेट करियर में 164 टेस्ट मैचों में 52.31 की औसत से 13288 रन बनाए थे जबकि 344 वनडे में उन्होंने 39.16 की औसत से 10889 रन बनाए थे। टेस्ट क्रिकेट में उनके नाम पर 36 शतक हैं जबकि वनडे में उन्होंने 12 शतक लगाए थे। टेस्ट में द्रविड़ का सर्वाधिक स्कोर 270 था जबकि वनडे में उनका बेस्ट स्कोर 153 रन रहा। उन्होंने एक मात्र अंतरराष्ट्रीय टी 20 मैच भी खेला जिसमें उन्होंने 31 रन की पारी खेली थी।


comments