'जवानों की राख से राजतिलक करना चाहते हैं मोदी'

By: Dilip Kumar
4/15/2019 3:40:34 PM
नई दिल्ली

लोकसभा चुनाव की सरगर्मी के बीच राजनेताओं के स्तरहीन बयान इस वक्त सुर्खियों में हैं। पूर्व सपा नेता अमर सिंह ने सोमवार को एक चैनल के साथ बातचीत में आजम खान को राक्षस कह डाला। दरअसल आजम ने रविवार को रामपुर में एक जनसभा में भद्दी टिप्पणी की थी। उनका इशारा रामपुर से भाजपा उम्मीदवार जयाप्रदा की तरफ था। वहीं मिजोरम के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी ने कहा कि नरेंद्र मोदी जवानों की राख से राजतिलक करना चाहते हैं।

आजम ने रामपुर में कहा, "मैं सवाल करता हूं कि क्या राजनीति इतनी गिर जाएगी। 10 बरस जिसने रामपुर के लोगों का लहू पिया, जिसकी उंगली पकड़कर हम रामपुर लेकर आए। रामपुर की गलियां और सड़कों की पहचान कराई। उसके शरीर से किसी का कंधा नहीं लगने दिया, आप गवाही दोगे। छूने नहीं दिया, गंदी बात नहीं करने दी। आपने 10 साल अपना प्रतिनिधित्व कराया। लेकिन आप और मुझमें क्या फर्क है। रामपुर वालो, उत्तरप्रदेश और हिंदुस्तान वालो, उसकी असलियत समझने में आपको 17 बरस लग गए, मैं 17 दिन में पहचान गया। उनका...खाकी है।"

आजम खान का एक और वीडियो वायरल हुआ है। एक मिनट 30 सेकंड के इस वीडियो में आजम अपनी गाड़ी पर खड़े होकर कह रहे हैं, "सब यहां डटे रहो। कलेक्टर-वलेक्टर से मत डरियो। ये तनखैया (तनख्वाह पाने वाला) है। तनखैयों से नहीं डरते। मायावती जी के फोटो देखे हैं। कैसे बड़े अफसर रूमाल निकाल के उनके जूते साफ करते हैं। हमारा उन्हीं (मायावती) से गठबंधन है। अल्लाह ने चाहा तो मायावती जी के जूते इन्हीं से साफ कराऊंगा।"

अमर ने कहा, "मालिक (ईश्वर) ने इंसान को इंसान बनाया, आजम ने उसे हिंदू या मुसलमान बनाया। अगर वे हिंदू से इतनी नफरत करते हैं तो पाकिस्तान चले जाएं। कश्मीर भारत का अंग नहीं है। यह या तो प्रशांत भूषण ने कहा था या फिर आजम ने। प्रशांत भूषण को जूतों से पीटा गया। पता नहीं आजम को कौन जूतों से पीटेगा। आजम खान जैसा राक्षस नरेंद्र मोदी के राज में ऐसा करता है।" अमर सिंह भाजपा में नहीं है लेकिन मोदी की 'चौकीदार' मुहिम के चलते ट्विटर पर अपने नाम के आगे चौकीदार लगा चुके हैं।

अमर यह भी कहते हैं, "आजम खान ने अपनी मां का दूध पिया है, अगर वह अपनी खसम का शौहर है, अपनी औलाद का पिता है तो बताए। मोदी के गुजरात में कितने साल से दंगे नहीं हुए? जिस दंगे का जिक्र करके नरेंद्र भाई का मुंह काला किया गया है, क्या उसके बाद गुजरात में कोई दंगा हुआ? लेकिन यह इस्लामपरस्त अखिलेश यादव के राज में कितने दंगे हुए। जब मुजफ्फरनगर में दंगे हो रहे थे। तब यह क्या कर रहे थे। मल्लिका सहरावत के ठुमके देख रहे थे। और मल्लिका क्या कर रही थीं। वे अखिलेश को देख कर 'भीगे होंठ तेरे' कह रही थीं।मिजोरम के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी ने पुलवामा हमले पर कहा, "योजना बनाकर आपने (नरेंद्र मोदी) ने ये करवाया ताकि आपको मौका मिले। लेकिन जनता समझती है। अगर मोदी जी चाहें कि 42 जवानों की हत्या करके, उनकी चिता की राख से अपना राजतिलक कर लें तो जनता यह करने नहीं देगी।"

हिमाचल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने जनसभा में कहा, "आपको यही पता नहीं होता कि बोलना क्या है। मंच से नरेंद्र मोदी जी को चोर बोल रहे हैं। उन्हें कह रहे हैं- चौकीदार चोर है। भैया, तेरी (राहुल गांधी) मां (सोनिया) की जमानत हुई है, तेरी जमानत हुई है, तेरे जीजा (रॉबर्ट वाड्रा) की जमानत हुई है। पूरा परिवार ही जमानती है। नरेंद्र मोदी पर न तो केस चला, न ही कोई जमानत और सजा हुई। तू कौन होता है जज की तरह मोदी को चोर कहने वाला।

ऐसा कोई मंच से नहीं बोल सकता। हम भी नहीं बोल सकते क्योंकि राहुल एक राष्ट्रीय पार्टी के लीडर हैं। एक व्यक्ति ने मुझसे कहा कि फेसबुक पर लोगों में हमसे ज्यादा गुस्सा है। अगर तू बोलता है कि देश का चौकीदार चोर है तो तू...है।" शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, "हम ऐसे लोग हैं, भाड़ में गया कानून, आचार संहिता भी हम देख लेंगे। जो बात हमारे मन में है, वो अगर मन से बाहर न निकालें तो घुटन होती है।"


comments