'उत्तर भारतीय कम पढ़े-लिखे, बालाकोट के प्रचार में फंस गए'

By: Dilip Kumar
5/21/2019 6:32:01 PM
नई दिल्ली

लोकसभा चुनाव 2019 का सियासी रण अपने अंतिम दौर में पहुंच चुका है. 'देश में किसकी सरकार बनेगी' इसका फैसला 23 मई को चुनावी नतीजे घोषित होने पर सामने आ जाएगा. वहीं, नतीजों से पहले कई एग्जिट पोल 2019 में दावा किया जा रहा है कि बीजेपी नीत एनडीए की एक बार फिर से वापसी को तैयार है. इन एग्जिट पोल के दावों के बीच कांग्रेस प्रवक्ता और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की पैनेलिस्ट शमा मोहम्मद ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है. दरअसल, शमा मोहम्मद ने उत्तर भारत के मतदाताओं को 'कम पढ़ा-लिखा और आसानी से किसी के भी पक्ष में मुड़ जाने वाला' बताया है.

दरअसल, एक टीवी डिबेट के दौरान शमा मोहम्मद ने दावा किया कि उत्तर भारतीय मतदाता कम शिक्षित हैं, जो मोदी सरकार द्वारा किए गए प्रचार से आसानी से प्रभावित हो गए और आसानी से उनकी ओर मुड़ गए. उन्होंने दावा किया कि उत्तर भारत के मतदाता दक्षिण भारतीयों की तुलना में कम पढ़े-लिखे हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर भारत के लोगों को व्हाट्सएप के मैसेजों और बालाकोट एयर स्ट्राइक की बातों वाले प्रचार द्वारा आसानी से प्रभावित होने का संकेत मिलता है.

कांग्रेस प्रवक्ता का यह बयान देश की सबसे पुरानी पार्टी के घमंड को दर्शाता है. बता दें कि एग्जिट पोल में दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड सहित उत्तरी राज्यों में एनडीए को बहुमत मिलने का अनुमान लगाया गया है. वहीं, इन क्षेत्रों में कांग्रेस के लिए माहौल इसके ठीक उलट है.


comments