CBSE की टॉपर बनीं नोएडा की रक्षा गोपाल

By: Dilip Kumar
5/29/2017 12:31:19 PM
नई दिल्ली

लंबे इंतजार के बाद सीबीएसई का रिजल्ट रविवार को आया। नोएडा के एमिटी इंटरनेशनल स्कूल की ह्यूमिनिटीज की स्टूडेंट रक्षा गोपाल 99.6% मार्क्स लाकर ऑल इंडिया टॉपर बनीं। 15 साल में ये पहली बार है जब आर्ट्स की स्टूडेंट ने टॉप किया। उनकी इस कामयाबी पर नरेंद्र मोदी ने बधाई दी है। चंडीगढ़ की साइंस की स्टूडेंट भूमि सावंत दूसरे नंबर पर रहीं। उन्हें 99.4% मार्क्स मिले। चंडीगढ़ के ही आदित्य नैना और मन्नत लूथरा तीसरे स्थान पर रहे। इस बार 10 लाख से ज्यादा स्टूडेंट 12th के एग्जाम में शामिल हुए थे। इनमें से 82% बच्चों ने कामयाबी हासिल की, जबकि पिछले साल 83.05% बच्चे पास हुए थे।

सीबीएसई के 12th क्लास का रिजल्ट देखने के लिए स्टूडेंट्स को बोर्ड की ऑफिशियल साइट cbse.nic.in या cbseresults.nic.in पर जाना होगा। इसके बाद 'Senior School Certificate Examinations (Class 12) Results 2017 (All Regions)' टैब सिलेक्ट करें।  यहां रोल नंबर और बाकी जानकारियां भरने के बाद रिजल्ट और ग्रेड देखी जा सकती है। चाहें तो इसका प्रिंट आउट भी ले सकते हैं। यह लगातार तीसरा साल है, जब सीबीएसई ने सभी 10 रीजन के रिजल्ड एकसाथ डिक्लेयर किए हैं।

बोर्ड पहले ही कह चुका था कि वह दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले का सम्मान करेगा और इस बार मॉडरेशन पॉलिसी को फॉलो किया जाएगा। बता दें कि इस साल अप्रैल में एचआरडी मिनिस्ट्री की मीटिंग हुई थी, जिसमें इसी साल से इस पॉलिसी को खत्म करने का फैसला किया गया था, लेकिन हाईकोर्ट ने इस पर रोक लगा दी थी।

रक्षा ने कहा, "मुझे तो अभी भी अपने रिजल्ट पर यकीन नहीं हो रहा। बस इतना सोचा था कि एग्जाम में अच्छा करना है। टॉप करने का तो सोचा ही नहीं था।" एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, "जोे बच्चे कामयाब हुए हैं, उनको बहुत बधाई। जिनको सफलता नहीं मिली, उनको निराश होने की जरूरत नहीं है।" सीबीएसई चेयरमैन आरके चतुर्वेदी ने कहा, "रिजल्ट अच्छा रहा है। ऑल इंडिया टॉपर आर्ट्स स्ट्रीम से है। इससे जाहिर होता है कि टॉपर किसी भी स्ट्रीम का छात्र हो सकता है।"

"इस बार मॉडरेशन पॉलिसी को लेकर सवाल उठे। हालांकि, इसमें कठिन प्रश्न आने पर एवरेज मार्क्स निकाल छात्रों को कुछ अंकों की राहत दी जाती है, ताकि वे एक स्टैंडर्ड पर आ जाएं।" बोर्ड का बेशक 1 फीसदी रिजल्ट लुढ़का है। लेकिन पास होने वाले छात्रों की संख्या पिछले साल की तुलना में बढ़ी है। मॉडरेशन पॉलिसी हटने से छात्रों को वास्तविक अंक मिल सकेंगे। पर अब कोर्ट इस पर फैसला करे।" इस साल 10 लाख 98 हजार 891 स्टूडेंट्स शामिल हुए। इनमें से 87.50% लड़कियां पास हुईं और 78% लड़के। पिछले साल इस एग्जाम में 10 लाख 65 हजार 179 स्टूडेंट्स शामिल हुए थे।

इनमें से 83.05% स्टूडेंट्स पास हुए थे। लड़कियों का परफाॅर्मेंस लड़कों से बेहतर रहा था। 88.58% लड़कियां पास हुई थीं, 78.85% लड़के पास हुए थे। थर्ड पोजिशन पर चंडीगढ़ के दो स्टूडेंट्स रहे। आदित्य जैन और मन्नत लूथरा दोनों को 99.2% मार्क्स लाकर तीसरे नंबर पर रहे हैं। आदित्य और मन्नत दोनों ही कॉमर्स सब्जेक्ट से हैं।

 


comments